गुरुवार, 25 फ़रवरी 2010

अस्त्र, अंध, अंग, हृद्य, ह्रदय

अस्त्र
शास्त्रों में 'अस्त्र' शब्द लैटिन के aster से उद्भूत है जिसका अर्थ 'सितारा' है. वैदिक काल में सितारों के बारे में बहुत अध्ययन किये गए थे इसलिए यह शब्द बहुतायत में पाया जाता है. आधुनिक संस्कृत के इसके अर्थ 'हथियार' से इसका कोई सम्बन्ध नहीं है. 

अंध 
शास्त्रों में पाया जाने वाला 'अंध' शब्द ग्रीक भाषा के anthos से बनाया गया है जिसका अर्थ 'फूल' है. आधुनिक संस्कृत में इसके अर्थ से महाभारत कालीन देश के नाम 'धृतराष्ट्र' को अँधा राजा कहा गया है और एक भ्रान्ति उत्पन्न की गयी है.

अंग 
शास्त्रों में 'अंग' शब्द का अर्थ उर्दू का 'दिल' अथवा हिंदी का 'ह्रदय' है क्योंकि यह 'angio' से बनाया गया है. आधुनिक चिकित्सा विज्ञानं में मनुष्य के ह्रदय के स्वास्थ का परीक्षण angiography कहा जाता है.

हृद्य, ह्रदय
शास्त्रीय शब्द 'हृद्य' का अर्थ मनुष्य के शरीर का 'नितम्ब क्षेत्र' है  तथा 'ह्रदय' का अर्थ 'नितम्ब' है. चिकित्सा शास्त्रों के आधुनिक संस्कृत पर आधारित अनुवादों ने शास्त्रीय काल के चिकित्सा शास्त्र को निष्प्रभावी सिद्ध कर दिया है जिनके अनुसार नितम्बों के अध्ययन को ह्रदय का अध्ययन कहा गया है.